Raksha Bandhan 2020
Festival

हिंदू धर्म में रक्षाबंधन कब मनाया जाता है।

रक्षाबंधन कब मनाया जाता है? सनातन धर्म अर्थात् हिंदू धर्म में रक्षाबंधन का ये त्योहार हर वर्ष की तरह इस वर्ष भी श्रावण मास की पूर्णिमा के दिन मनाया जायेगा। इस बार यह त्योहार ३ अगस्त २०२० तारिक को मनाया जायेगा। भारत व विश्व में आज के दिन रक्षाबंधन का त्योहार बड़े ही धूमधाम और हर्ष एवं उल्लाश के साथ मनाया जाता है।

रक्षाबंधन Raksha Bandhan का ये त्योहार बहनों और भाइयों के प्रेम का वो सूंदर दिन है जब बहनें अपने प्यारे भाइयों की कलाई पर सूंदर व रंग-बिरंगी राखी बांधती है और बहनें अपने भाइयों की सुख समृद्धि व खुशियों की कामना करती है। और वैसे भी आजका दिन बहनों के लिए काफी खुशियों का दिन होता है जब उनके प्यारे भाई उन्हें Gifts देते है और बहनों की ये ख़ुशी देख कर सभी भाइयों को बहुत अच्छा लगता है।

क्या आप जानते है की रक्षाबंधन की सुरुवात कैसे हुई? कुछ पौराणिक कथाओ के माध्यम से कुछ प्रसंग आप लोगो के सामने प्रस्तुत किया जा रहा है।

इंद्र और राजा बलि युद्ध
भविष्यत् पुराण के अनुसार असुर और देवताओं के बिच होने वाले एक युद्ध में भगवान इंद्र को एक असुर राजा बलि ने बहुत बुरी तरह हरा दिया था। भगवान की यैसी हालत देख कर इंद्र की पत्नी इन्द्राणी ने भगवान विष्णु से मदद मांगा। भगवान विष्णु ने इन्द्राणी को एक धागा दिया जिसे उन्होंने मन्त्रित कर के दिया। इन्द्राणी ने इस धागे को इंद्र की कलाई में बाँध दिया। संयोग से वह श्रावण पूर्णिमा का दिन था। लोगों का विश्वास है कि इन्द्र इस लड़ाई में इसी धागे की मन्त्र शक्ति से ही विजयी हुए थे। उसी दिन से श्रावण पूर्णिमा के दिन यह धागा बाँधने की प्रथा चली आ रही है। यह धागा धन, शक्ति, हर्ष और विजय देने में पूरी तरह समर्थ माना जाता है।

श्री कृष्ण और द्रौपदी की कथा
श्री कृष्ण और द्रौपदी की मित्रता लोक प्रसिद्ध है, एक बार राजा शिशुपाल से युद्ध के दौरान श्री कृष्ण की उंगली घायल हो गई थी तब श्री कृष्ण की चोटिल उंगली पर द्रौपदी ने अपनी साड़ी का एक टुकड़ा बाँध दिया था, और द्रौपदी के इस उपकार के बदले श्री कृष्ण ने द्रौपदी को वचन दिया की किसी भी संकट मे द्रौपदी की सहायता करेंगे। अतः एक बुरा समय यैसा आया जब कुरु सभा में श्री कृष्ण ने द्रौपदी की रक्षा किया था दुशासन से।

यैसी बहुत से लोक कथाएँ है जो प्रचलित है रक्षाबंधन मानाने के लिए।

Raksha Bandhan 2020

रक्षाबंधन मुहूर्त ३ अगस्त 2020 
रक्षाबंधन अनुष्ठान का समय- 09:28 से 21:14
अपराह्न मुहूर्त- 13:46 से 16:26
प्रदोष काल मुहूर्त- 19:06 से 21:14
पूर्णिमा तिथि आरंभ – 21:28 (2 अगस्त)
पूर्णिमा तिथि समाप्त- 21:27 (3 अगस्त)

Thank you Friends… Stay Safe and Healthy.

6 replies on “हिंदू धर्म में रक्षाबंधन कब मनाया जाता है।”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *